मध्यप्रदेश

500 नही 2 हजार करोड़ दिया था एडवांस पेमेंट

विधानसभा सदन में छिन्दवाड़ा सिचाई कॉम्लेक्स को लेकर सी एम शिवराज सिंह का बयान

Metro City Media

 एक बार फिर खोलकर रख दी 15 महीने की कमलनाथ  सरकार की पोल

मुकुन्द सोनी  छिन्दवाड़ा-  छिन्दवाड़ा की  कन्हान नदी पर जिले के सौसर-पांढुर्ना और जुन्नारदेव ब्लाक  के कायाकल्प के लिए  मध्यप्रदेश में 15 महीने रही  कांग्रेस की सरकार में मुख्यमंत्री रहते हुए  कमलनाथ ने छिन्दवाड़ा सिचाई काम्प्लेक्स के नाम  पर  56 सौ करोड़  के  मेगा बजट वाली परियोजना  को भी स्वीकृति दी थी   इस परियोजना के निर्माण का ठेका जल संसाधन विभाग ने हैदराबाद की एच ई एस कम्पनी को दिया  था कम्पनी ने छिन्दवाड़ा सिचाई काम्प्लेक्स का कार्य शुरू भी नही  किया  था कि  बिना किसी काम के कंपनी 500 करोड़ के  एडवांस पेमेंट के  मामले में  विवादों मे फंस गई थी इस मामले में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कभी कुछ कहा नही था बस इतना ही कहा था कि यह मामला निर्माण एजेंसी का है   अब इस मामले में प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह  चौहान ने विधानसभा के पटल पर अधिकृत रूप से बड़ा बयान दिया है जिससे छिन्दवाड़ा का यह मामला फिर सुर्खियों में आ गया है  इस परियोजना में अब तक यही मालूम था कि 500 करोड़ के एडवांस पेमेंट के मामले में कमलनाथ के बाद आई भाजपा की शिवराज सरकार ने योजना का काम बंद करवाकर मामला  जांच में लिया है भाजपा सरकार ने इस मामले में जल संसाधन विभाग के तीन अफसरों को सस्पेंड किया था और ठेका लेने वाली कम्पनी के खिलाफ भी जांच बैठा दी थी किन्तु अब प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने विधानसभा में जो कहा वह भी कम चौकाने वाला नही है

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह  चौहान ने कहा कि छिन्दवाड़ा सिचाई काम्प्लेक्स में कम्पनी को बिना किसी काम के 2 हजार करोड़ का एडवांस पेमेंट दिया गया था  कमलनाथ सरकार ने टेंडर के नियमो को भी शिथिल किया था सिचाई परियोजना में एम एस और डी आई पाइप लगने थे किंतु सरकार ने जी आर पी पाइप लगाने को मंजूरी दी जी आर पी पाइप निर्माण के मानक मटीरियल में शामिल नही है

खास बात यह भी  है कि छिन्दवाड़ा की इस परियोजना में अब तक भी कुछ नही हुआ है जल संसाधन विभाग के अफसर भ्र्ष्टाचार के इस मामले के चलते एक तो छिन्दवाड़ा आना नही चाहते और आ भी गए तो फिर कोई फाइल शाइन नही करते हैं इस कांड के बाद यहाँ अब तक 5 कार्यपालन यंत्री नियुक्त किए जा चुके हैं किंतु अफसर यहां आने के बाद जैसे -तैसे कर अपना तबादला करा लेते हैं ऐसे में अब यह परियोजना भोपाल के ही अफसरों के हवाले कर एक महिला अफसर को कार्यपालन यंत्री बनाया है

सरकार हमने नही गिराई ..

विधान सभा के शीतकालीन सत्र में कांग्रेस ने भाजपा सरकार के खिलाफ अविश्वास  प्रस्ताव  रखा था जो खारिज हो गया किन्तु मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की सदन में रखी गई बातों से कांग्रेस की कमलनाथ सरकार की पोल एक बार फिर खुली है मुखयमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सदन में पक्ष-विपक्ष के विधायकों की मौजदूगी में  विधानसभा अध्यक्ष के समक्ष कहा कि  कांग्रेस की सरकार हमने नही गिराई यह कांग्रेसी खुद सोचे कि सरकार क्यो गिरी कांग्रेस में कांग्रेस के साथी ही का कांग्रेस की सरकार से परेशान थे जब वे भाजपा में आकर उप चुनाव लड़े तो दो गुने वोट से जीते यदि जनता को लगता कि हम गलत है तो फिर हमें चुनाव क्यो जिताती हमारे पास भी बहुमत के करीब आंकड़ा था हम भी जोड़-तोड़ कर सकते थे किंतु हमने लोकतंत्र की स्वस्थ परम्परा में हमसे ज्यादा सीट होने पर कांग्रेस को सरकार बनाने का मौका दिया हमारे ऊपर आरोप लगाया जाता है कि हमने सरकार गिराई लेकिन मैं कहता हूँ कांगेसी खुद मंथन करें कि सरकार क्यो गई

भ्र्ष्टाचार का अड्डा बन गया था वल्लभ भवन

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कमलनाथ के मुख्यमंत्री रहते वल्लभ भवन भ्रष्टाचार का अड्डा बन गया था मात्र 165 दिन में प्रदेश में 450 आई ए एस और आई पी एस सहित 15 हजार तबादले किए गए वो भी पैसा लेकर ऐसा तो मध्यप्रदेश में पहले की कांग्रेस सरकारों में भी नही हुआ था दतिया जिले में तो हद ही गई थी यहां एक महीने में ही एक के बाद एक तीन कलेक्टर पदस्थ किए गए थे  यह उदाहरण था कि जो अफसर ज्यादा रुपया दे रहा था  उसकी पोस्टिंग हो रही थी अब कई मामले लोकायुक्त की जांच में है

कमलनाथ ने लौटा दी थी पी एम आवास में 2 लाख मकान बनाने की राशि..

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान यही नही रुके उन्होंने कहा कि स्तीफा देने के मात्र 15 मिनिट पहले कमलनाथ ने आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को फोन देने के लिए 63 करोड़ का आर्डर शाइन किया था  कमलनाथ की सरकार ने हमारी जन कल्याणकारी योजनाओं को बंद करवा दिया था संबल योजना से 67 लाख नाम काटे गए थे  भारिया बेगा सहरिया आदिवासियों के पोषण आहार की राशि देना बंद करा दिया था पी एम आवास योजना के 2 लाख मकान बनाने की राशि लौटा दी थी मेधावी बच्चों को लैपटॉप नही दिए ग्राम पंचायतो की पंच-परमेश्वर योजना बन्द कर दी केंद्र की किसान सम्मान निधि योजना लागू नही की  उन्होंने कहा कि हमारी हर सांस और जीवन जनता को समर्पित है मध्यप्रदेश में हम भ्र्ष्टाचार पनपने नही देंगे इसे जड़ से समाप्त करेंगे


Metro City Media

Metro City Media

Chhindwara MP State Digital News Channel & Advertiser Editor-Mukund Soni Contact-9424637011

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker